East India Company is owned by an Indian entrepreneur | अब एक भारतीय इतिहास की सबसे ‘ताकतवर’ कंपनी का मालिक, सैकड़ों साल तक किया था दुनिया पर राज


नई दिल्ली : भारत समेत दुनिया के एक बड़े हिस्से पर लंबे समय तक राज करने वाली वो कंपनी जिसके पास कभी लाखों की फौज थी, खुद की खुफिया एजेंसी थी और तो और टैक्स वसूली का भी अधिकार था, अब उस ‘ईस्ट इंडिया कंपनी’ (East India Company) के मालिक एक भारतीय उद्धमी हैं. कंपनी के नए मालिक का नाम संजीव मेहता (Sanjiv Mehta) है, जो भारतीय मूल के बड़े कारोबारी हैं.

गौरतलब है कि ईस्ट इंडिया कंपनी की स्थापना वर्ष 1600 में हुई थी. उस दौर में एलिजाबेथ प्रथम (Queen Elizabeth I) ब्रिटेन (Britain) की महारानी थीं. जिन्होंने ईस्ट इंडिया कंपनी को एशिया में कारोबार करने की खुली छूट दी थी. शुरुआत में कंपनी भारत (India) से यूरोप (Europe) में मसाले, चाय और असाधारण उत्पाद मंगाती थी. कंपनी ने अपना ज्यादातर कारोबार भारतीय उपमहाद्वीप और चीन में फैलाया. कंपनी तरह-तरह के खाद्य पदार्थ पूर्व के देशों से पश्चिम भेजने लगी थी. 

1857 की क्रांति के बाद ईस्ट इंडिया कंपनी बिखर गई थी क्योंकि उस वक्त कंपनी के सैनिकों ने ब्रिटेन और अंग्रेजों के खिलाफ बगावत कर दी थी. लेकिन इसके बावजूद कंपनी का अस्तित्व बना रहा. आज भी यह कंपनी दुनिया भर की यादों और इतिहास के पन्नों में दर्ज है. 

ये भी पढ़ें- इमरान खान के भाषण के बीच भारत ने UN जनरल असेंबली से वॉक आउट किया

भारत में दमन और उत्पीड़न का प्रतीक थी कंपनी
भारत में ईस्ट इंडिया कंपनी की पहचान उस दौर में एक दमनकारी कंपनी के तौर पर होती थी, जो हिंदुस्तानियों का उत्पीड़न करती थी. साल 2003 में शेयर धारकों के एक समूह जिन्होने इस ईस्ट इंडिया कंपनी को खरीदा था उन्होने एक बार फिर चाय और कॉफी बेचने का कारोबार शुरू किया.

भारतीय उद्यमी ने बदली पहचान
भारतीय उद्यमी संजीव मेहता ने 2005 में कंपनी में अपना दखल हासिल किया और कंपनी को लक्जरी टी, कॉफी और खाद्ध पदार्थों के कारोबार में एक नया ब्रांड बनाकर कंपनी को नई पहचान दी. कंपनी के मालिक मेहता के मुताबिक जिस कंपनी ने कभी दुनिया पर राज किया आज उसका मालिक होना एक भारतीय के तौर पर उन्हे गर्व का अहसास कराता है.

2010 में लंदन में खोला पहला स्टोर
मेहता ने नई पहचान के साथ कंपनी का पहला स्टोर लंदन के धनवान लोगों का इलाका कहे जाने वाले मेफेयर (Mayfair ) में खोला था. नए मालिक संजीव मेहता का कहना है कि भले ही ये कंपनी कभी अपनी आक्रामकता के लिए जानी जाती थी लेकिन आज की ईस्ट इंडिया कंपनी की पहचान एक संवेदनशील कंपनी के रूप में है. 

बेहद खास है 8 सितंबर की तारीख
आठ सितंबर को संजीव मेहता की इस कंपनी को आर्म्स सेक्टर में काम शुरू किया. फिर कंपनी ने टकसाल में सिक्के ढालने का काम किया. ऐसे में कंपनी के शेयर खरीदने का मतलब मेहता के लिए बेहद भावपूर्ण था, क्योंकि इसी कंपनी ने कभी भारतीय उपमहाद्वीप में तिजारत से लेकर सियासत करने के दौरान जुल्म और सितम की इंतहा कर दी थी.

LIVE TV





Source link

Related Articles

coronavirus in mumbai: Coronavirus: मुंबई करोनाची दुसरी लाट रोखणार?; आठव्या दिवशी मिळाले शुभसंकेत! – mumbai stories 800 new covid19 circumstances 372 recoveries and 14...

मुंबई: करोनाच्या दुसऱ्या लाटेचे संकट महाराष्ट्रावर घोंगावत असताना राजधानी मुंबईतील आजचे आकडे काहीसा दिलासा देणारे ठरले आहेत. मुंबईत दैनंदिन करोना बाधित रुग्णांचा आकडा...

തുടർഭരണം ജനാഭിലാഷം ; എൽഡിഎഫ്‌ മികച്ച വിജയം നേടും : എ വിജയരാഘവൻ | Kerala | Deshabhimani

സംസ്ഥാനത്ത്‌ തുടർഭരണം വരണമെന്ന ജനാഭിലാഷം രൂപപ്പെട്ട സന്ദർഭത്തിൽ നടക്കുന്ന തദ്ദേശ തെരഞ്ഞെടുപ്പിൽ എൽഡിഎഫ്‌ മികവാർന്ന വിജയം നേടുമെന്ന്‌ സിപിഐ എം സംസ്ഥാന സെക്രട്ടറിയുടെ...

ബാർ കോഴ : അന്ന് വിജിലന്‍സ് എസ്‌‌പിയെ വിളിച്ചതാര് ? | Kerala | Deshabhimani

സ്വന്തം ലേഖകൻ ബാർ കോഴ കേസിൽ മൊഴി നൽകിയപ്പോൾ അന്ന് ചെന്നിത്തല അടക്കം എല്ലാവരുടെയും പേര്  താൻപറഞ്ഞതാണെന്ന്‌ ബിജു രമേശ് പറഞ്ഞു.  ഇതൊന്നും അന്വേഷിക്കാൻ...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

20,764FansLike
2,446FollowersFollow
16,800SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

coronavirus in mumbai: Coronavirus: मुंबई करोनाची दुसरी लाट रोखणार?; आठव्या दिवशी मिळाले शुभसंकेत! – mumbai stories 800 new covid19 circumstances 372 recoveries and 14...

मुंबई: करोनाच्या दुसऱ्या लाटेचे संकट महाराष्ट्रावर घोंगावत असताना राजधानी मुंबईतील आजचे आकडे काहीसा दिलासा देणारे ठरले आहेत. मुंबईत दैनंदिन करोना बाधित रुग्णांचा आकडा...

തുടർഭരണം ജനാഭിലാഷം ; എൽഡിഎഫ്‌ മികച്ച വിജയം നേടും : എ വിജയരാഘവൻ | Kerala | Deshabhimani

സംസ്ഥാനത്ത്‌ തുടർഭരണം വരണമെന്ന ജനാഭിലാഷം രൂപപ്പെട്ട സന്ദർഭത്തിൽ നടക്കുന്ന തദ്ദേശ തെരഞ്ഞെടുപ്പിൽ എൽഡിഎഫ്‌ മികവാർന്ന വിജയം നേടുമെന്ന്‌ സിപിഐ എം സംസ്ഥാന സെക്രട്ടറിയുടെ...

ബാർ കോഴ : അന്ന് വിജിലന്‍സ് എസ്‌‌പിയെ വിളിച്ചതാര് ? | Kerala | Deshabhimani

സ്വന്തം ലേഖകൻ ബാർ കോഴ കേസിൽ മൊഴി നൽകിയപ്പോൾ അന്ന് ചെന്നിത്തല അടക്കം എല്ലാവരുടെയും പേര്  താൻപറഞ്ഞതാണെന്ന്‌ ബിജു രമേശ് പറഞ്ഞു.  ഇതൊന്നും അന്വേഷിക്കാൻ...

Adolescence Suicide | स्वप्नात पैसा पाहिला, मात्र वास्तवात दारिद्र्य पाहून तरुणाचा आत्महत्येचा प्रयत्न

Youth Suicide | स्वप्नात पैसा पाहिला, मात्र वास्तवात दारिद्र्य पाहून तरुणाचा आत्महत्येचा प्रयत्न Source link

The formative years, who used to be wearing rubbish in a automotive price Rs 90 lakh in Ranchi, additionally posted a video on social...

Gujarati NewsNationalThe Youth, Who Was Carrying Garbage In A Car Worth Rs 90 Lakh In Ranchi, Also Posted A Video On Social MediaAdsથી...